Home » , , , » पैर को अपने कंधे पर रखके आँटी की चूत मारी

पैर को अपने कंधे पर रखके आँटी की चूत मारी

मेरी आंटी का नाम प्रियंका है और उनकी उम्र शायद ३० या ३१ साल की रही होगी. उनका फिगर शायद ३४-२८-३८ का होगा और वो देखने में बहुत सेक्सी लगती है. पहले मैने उनके बारे में कुछ गन्दा नहीं सोचा था, बट एकदिन ऐसा कुछ हुआ, कि हमारे घर के सभी मेम्बर शादी में गये हुए थे और मैं, आंटी और उनकी बेटी ही घर पर थे. ठण्ड का मौसम चला रहा था और मेरी भी विंटर वेकेशन चल रही थी. ठण्ड का मौसम था और सब लोग खूब तैयार हो कर गये थे. ठण्ड ज्यादा थी, तो मैं अगले दिन लेट तक सोता रहा और सुबह मुझे आंटी उठाने के आ गयी.

मैने नाश्ता किया और प्रेक्टिस के लिए चला गया. चूँकि, मैं एक क्रिकेटर हु और मुझे किसी भी मौसम में बिना नागा प्रेक्टिस के लिए जाना होता है. उसदिन, जब मैं मैदान से वापस घर आया, तो देखा कि घर का दरवाजा खुला हुआ है. मैं अन्दर गया और अपने रूम की तरफ जाने लगा, कि मेरी नज़र आंटी के रूम पर पड़ी. उनका दरवाजा खुला हुआ था और दरवाजे की झिरी में से लाइट बाहर आ रही थी, जिसने मेरा ध्यान अपनी तरफ खिंचा था. मैने उसमे उत्सुकतावश अन्दर झांककर देखा, तो आंटी कपडे बदल रही थी.उनको देखकर, मैं तो एकदम भौचक्का रह गया, क्या मस्त बूब्स थे! आप ये कहानी रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। लेकिन उस समय उन्होंने ब्लैक कलर की ब्रा पहनी हुई थी और अपने कपडे भी पहन लिए थे. वो मुझे ना देखा ले, इसलिए मैं भी जल्दी से अपने रूम में चला गया. मुझे रह-रहकर आंटी का बदन याद आ रहा था और मैं उनकी चुदाई के बारे में सोचने लगा. सारे घर वाले २ दिन घर वापिस आने वाले थे. तो मुझे जो भी करना था, उनके वापिस आने से पहले करना था.उसी शाम हम सब मैं, आंटी और उनकी बेटी गार्डन में खेल रहे थे और उसी समय, मैने आंटी को बोला – आंटी, मुझे अकेले सोने की आदत नहीं है, डर लगता है. तो आज रात क्या मैं आपके साथ सो सकता हु. आंटी ने मेरे चेहरे को देखा और फिर हाँ कर दी. हम रात को टीवी देख रहे थे. मैने आंटी के हाथ से रिमोट लेकर मूवी वाला चॅनल चला दिया और मूवी देखते-देखते पता ही नहीं चला कब ८ बज गए? फिर हमने डिनर किया और सोने चले गये. हम तीनो एक ही बिस्तर पर लेटे थे. वो दोनों सो चुके थे, लेकिन मुझे नीद कहा आने वाली थी.

रात को ११ बजे, मैने देखा आंटी गहरी नीद में सो रही थी. मैं अपने हाथो को उनके बूब्स पर ले गया और उनको दबाने लगा और फिर मैने अपना एक हाथ नीचे लेजाकर उनकी चूत को टच करना चाहा. लेकिन, मैं डर गया और मेरी हिम्मत ही नहीं हुई और फिर मैने अपना हाथ पीछे खीच लिया और सो गया. हम सुबह उठे और सब कुछ नार्मल था और आंटी ने भी मुझे कुछ नहीं कहा था. मैं मन ही मन उधेड़बुन में था, क्युकि आंटी के साथ सेक्स करने के लिए मेरे पास सिर्फ आज का ही दिन था और उनकी बेटी भी उस दिन अपनी फ्रेंड के घर जा रही थी.मैं उसको छोड़कर घर वापिस आ गया और आंटी और मैं दोनों टीवी देखने लगे. आप ये कहानी रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैने मूवी का चैनल लगा दिया. कोई रोमेंटिक मूवी चल रही थी और उस पर किसिंग सीन आ रहा था. वो दोनों एक दुसरे का चुम्बन ले रहे थे और मस्त आवाज़े निकाल रहे थे. मैने मौके पर चौका मारने के इरादे से आंटी को बोला – आंटी आप बहुत अच्छी और सुंदर हु. आंटी ने पूछा – मुझे क्या अच्छा है? तो मैने कहा – आप उपर से लेकर नीचे तक सुंदर हु और पारी जैसी लगती हो. बातो ही बातो में उन्होंने पूछा – कि मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या? मैने कहा – नहीं. तो वो बोली – ऐसा हो ही नहीं सकता. तुम इतने स्मार्ट हो, कोई ना कोई लड़की तो जरुर मेरी लाइफ में होगी.तो मैने कहा – नहीं कोई नहीं है और फिर मैने कहा, कि आप बन जाओ मेरी गर्लफ्रेंड तो वो हँसते हुए कहने लगी, कि गर्लफ्रेंड बनाकर क्या करोगे? मैने कहा – “बहुत सारा प्यार”. उन्होंने मुझे देखा और पूछा – “कैसे”. तो मैने बिना किसी देरी के आंटी के पास आकर उनको हग केर लिया और उनके होठो पर अपने होठ रख दिए और उनको स्मूच करने लगा. वो भी मेरा साथ दे रही थी.

उनको किस करते-करते मैने अपने हाथ उनके बूब्स पर रख दिए और उनको दबाने लगा. उनके मुह से कामुक आवाज़ निकल रही थी अहहः हाहाहाह ह्ह्हह्ह्ह्ह थोडा जोर से दबाओ ना. मैने आँटी की कमीज़ उतार दी और उनकी ब्रा भी, क्या मस्त बूब्स थे! बिलकुल गोल और फिर मैं उन्हें चूसने लगा और उनके मुह से कामुक आवाज़े निकलने लगी अहहहः ऊऊऊ और चुसो ना और आह्ह्ह्ह मज़ा आ रहा है लक्ष्य अहहाह. उनकी आवाजो को सुनकर मैने और जोर से चूसने लगा और फिर मैने उनके पेट और कमर पर भी किस करने लगा. अब मैने उनकी उनकी सलवार उतार दी और चूत को चूसने लगा, आप ये कहानी रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। क्या टेस्ट था, वो तड़प रही थी.और आवाज़े निकलने लगी “अहहाह यायायायाय और चुसो और जोर से मेरे राजा..मुझे जन्नत में ले जाओ अहहहाह ह्ह्ह्हह्ह यायय्य्य्य और जोर से और मेरा सिर पर हाथ फेरने लगी और करीब ५ मिनट चूसने के बाद वो झड़ गयी. फिर उसने कहा – अब तुम अपने कपडे उतारो, तो मैने कहा – आप ही उतार दो पहले. तो फिर उन्होंने मेरी स्वेटशर्ट उतारी और फिर शर्ट, फिर पेंट और जब मेरा अंडरवियर उतारा तो मेरा लंड देखकर चौक गयी और बोली – ये तो बहुत बड़ा है! और उसने लगी. करीब १० मिनट चूसने के बाद मैने कहा – अब तेरी चूत की बारी.मैने उनको सोफे पैर लिटा दिया और टांगो को खोला और अपना लंड उनकी चूत पर रखा और धक्का मारा तो सिर्फ थोडा सा ही अन्दर गया. मैने आंटी को पूछा, कि उनकी चूत इतनी टाइट क्यों है, तो उसने बताया कि मेरे अंकल ने ३ महीने से उनकी चुदाई नहीं की है. तो मैं बाथरूम से जाकर तेल लेकर आया और अपने लंड को और उनकी चूत पर तेल चिपड़ दिया और फिर से चूत को लंड पर लगाकर धक्का मारा, तो लंड आधा लंड अन्दर चले गया. आंटी चिल्लाई …ऊऊऊ…बाहर निकालो … निकालो …बस बस ..मर गयी.

फिर मैं रुक गया इर उन्हें स्मूच कर रहा था और उनके बूब्स दबाने लगा और थोड़ी देर बाद जब वो नार्मल हो गयी, तो मैने अपनी गांड हिलाकर एक जोरदार धक्का फिर से मार दिया और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया. मैं अपनी तेजी से गांड हिलाकर उसकी चूत चोद रहा था और वो भी अपनी गांड हिलाकर मज़े ले रही थी. उसके मुह से आअहहहह …ऊऊऊ … अहहहः आवाज़े निकल रही थी और वो बोल रही थी और तेज और तेज चोदो मुझे आज लक्षेय और तेज चोदो. आज मेरी मस्त चुदाई करो … बहुत मज़ा आ रहा है और चोदो अहहहः अहहहहः.पुरे घर में आंटी की आवाज़े गूंज रही थी और उनकी आवाज़े सुनकर मुझे भी जोश आ गया और मैने अपनी स्पीड बड़ा दी. लगभग २५ मिनट चोदने के बाद, आप ये कहानी रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैने उनको पोजीशन बदलने को बोला और नीचे ले गया और वो मेरे ऊपर आ गयी और उछल-उछल कर चुदवाने लगी. चूँकि, मैं एक क्रिकेटर हु और मेरी फिटनेस भी अच्छी है और स्टेमिना भी बहुत अच्छा है. अब मैने आंटी को डौगी पोजीशन में किया और पीछे से आकर उनकी चूत की मस्त चुदाई करने लगा..उनके मुह से अभी भी कामुक आहे निकल रही थी अहहः ..आआआअ …ऊऊऊऊऊओ … मर गयी मर गयी …मज़ा आ गया …ऊऊऊऊहम दोनों की आवाज़े पुरे घर में गूंज रही थी “अहाहहः और तेज और तेज .. जानू, अपनी आंटी को आज जन्नत की सैर करवा दे अहहहः आआआआअ ऊऊ एस एस ..एस …ऊऊ और १५ मिनट छोड़ने के बाद, मैं झड़ने वाला था और मैने अपना रस उनकी चूत के अन्दर ही छोड़ दिया और उनकी साइड में लेट गया. अब हमने स्मूच करना शुरू कर दिया और एक दूसरे को चाट कर साफ़ किया. फिर हमने कपड़े पहने और हम बातें करने लगे. उन्होंने बताया, कि चुदाई करते वक्त वो ४ बार झड़ी और बताया, कि उनके पति का सिर्फ ५ इंच का ही है और वो जल्दी झड़ जाते है. थोड़ी देर बाद उनकी बेटी का फ़ोन आ गया. मैं उसको उसकी सहेली के घर से वापिस ले आया और उस रात हमने ३ बार चुदाई की. आज भी अगर हमें मौका मिलता है, तो हम चुदाई करते है.कैसी लगी आँटी की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी आँटी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/PriyankaSharma

1 comments:

Indian sex story

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter