loading...

थ्रीसम ग्रुप सेक्स कहानी

लास्ट मंथ में याहू पर चाट कर रहा था की एक नए आईडी ने मुझे मेसेज किया की क्या अहम चाट कर सकते हे? उसने बताया की वो ४५+कपल्स हे. खुद जॉब में हे और वाइफ होम मेकर हे. और इनका इंटरेस्ट थ्रीज्युम करने का हे.और उनकी चोइस २५+ मेल हे वो दुसरे सिटी से और वोर्किंग के सिलसिले में ट्रवेल करते रहते हे. हमने चाट में एक दुसरे के बारे में जाना. और काफी देर तक चाट की. चाट के बिच में मेरे मन में बार बार ये सवाल आ रहा था. की अगर ये कपल हे तो थ्रीएज्युम क्यू करना चाहते हे. जब की इन लोगो को तो आसानी से कपल मिल जायेंगे. मेरे से रहा नहीं गया और मेने उनसे ये सवाल कर ही लिया तो उन्होंने बताया की उन लोगो ने २ कपल के साथ में स्वैप/सैम रूम सेक्स किया हे पर उन लोगो को मज़ा नहीं आया. मेने पूछा की क्यू एसा क्यू हुआ? तो बोले की कोई भी कपल अधुरा होता हे या तो उसकी वाइफ सही नहीं होती या या हसबंड तो कपल सेक्स को फुल्ली एन्जॉय करने वाला परपोज तो पूरा होता ही नहीं.


इसलिए हम ने काफी सोच समज कर थ्रीज्युम के बारे में सोचा हे की कम से कम हम एन्जॉय तो कर सकते हे . हमारी चाट कई दिनों तक चली और हम ने मोबाइल नंबर भी एक्स्चंज कर लिए.और फोन पर भी हमारी चाट सही तरीके से हो रही थी जेसे हम लोग सोंच रहे थे. फिर लास्ट वीक के लिए उन्होंने कहा की उनका अहमदाबाद का टूर बन रहा हे और वो अहमदाबाद फ्राइडे इवनिंग में पहोच जायेंगे. अपने एक रेअलेतिव के यहाँ पर और सैटरडे को डे टाइम में किसी भी पब्लिक पलेस पर मुलाकात के बाद आगे के प्रोग्राम के बारे में डिसाइड करेंगे. तो मेने हां कर दी और उनके रिस्पोंस का वेट करने लगा.आप ये कहानी रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। उनके फ्राइडे के पहोंच ने का फोन मेरे पास आया और सैटरडे का फिक्स हुआ की डे में १२ बजे मिलेंगे. में दुसरे दिन डे में वेट करने लगा फिर उनका फोन आया की वो आज नहीं मिल पायेंगे. तो मुझे निरासा हुई और मुझे लगा की शायद ये लोग मिलना नहीं चाहते हे या फिर किसी और से आज इनकी मीटिंग मुलाकात हो रही होगी ये सोच कर मेने भूल जाना ही उचित समजा. लेकिन सैटरडे इवनिंग में उन लोगो ने फोन करके मुझे कहा की सॉरी हम आज आप से नहीं मिल पाए उन्होंने बताया की उनका कोई ऑफिसियल मीटिंग हो गयी थी तो कैन्सल करना पड़ा.मेने कहा की कोई बात नहीं जेसे आपको सही लगे . थें उन लोगो ने बोला की हम संडे को सेम १२ बजे डे में मिलते हे. और एक पब्लिक पेलेस को डिसाइड कर लिया और सन्डे को हम मिले. जेसा उन्होंने बताया था वो वेसे ही थे और मेने जब उस लेडी को देखा तो लगा ही नहीं की वो ४५+ की हे रियली फ्रेंड्स वो ३५ के आस पास की ऐज की लग रही थी. ३४.३०.३६. क्या मस्त फिगर था उसका.

काफी देर तक हमने साथ बेठ कर एक दुसरे से बात की तो मुझे पता चला की उनके हसबंड का क्लीक साइज काफी छोटा हे और वो सेटीसफाईड नहीं हे सेक्स में जोश बहोत हे पर लंड छोटा होने के से वो कर नहीं पाते हे तो हम लगो ने सोचा की थ्रीज्युम के थ्रू एन्जॉय किया जाए. और कहा की इस लिए हम किसी कपल के अथ सेक्स नहीं करना चाहते हे क्यू की अगर मेरे पति ने उसकी वाईफ को सही से नहीं सेटीसफाईड किया तो क्या फायदा वो वाइफ क्यू हमारे साथ में सेक्स करना चाहेंगे और नेचुरल भी की ये ये कर नहीं पायेंगे. इस तरह काफी देर के बाद बाते करने के बाद में डिसाइड किया मंडे मोर्नोंग में हम उनके रिलेटिव के घर पर मिलेंगे क्यू की उनके पास सिर्फ ८ तो १२ तक का ही टाइम हे क्यू की उनके रिलेटिव जॉब पर कही जाते हे और वो अकेले रहेंगे तो मुझे बुला लेंगे और जेसा हमने डिसाइडकिया था वेसे ही में मंडे को मोर्निंग में ८ बजे उनके पास पहोंच गया मेरा एसा पहली बार था किसी कपल के साथ में तो में सही हो रहा था लग भी रहा था की अगर में इन्केस साथ में सही कर नहीं पाया तो क्या सोचेंगे की बाते ही करता हु लम्बी लम्बी होता कुछ नहीं हे.आप ये कहानी रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। में थोड़ी देर तक उनके साथ बेठा नात की और रिलेक्स होने के बाद में हम एक रूम गये और और उसके हब्बी ने कहा की सर्माओ मत जो भी चाहते हो वो सब करो हम ३ मिलकर के खूब एन्जॉय करेंगे और उसने अपनी वाइफ साथ में किस करनी सुरु की तो मेने भी हिम्मत दिखाते हुए उसकी नैक पर किस की और धीरे से उसके लिप्स पर आ गया और काफी टाइम तक मेने उसकी वाइफ के साथ में लिप किस की काफी लॉन्ग और डीप और पूरा साथ देने लगी.धीरे धीरे वो दोनों हसबंड वाइफ पूरी तरह से नुड़े हो गए और मेने देखा की उसके हब्बी का लंड वाकई में २.५ इंच का ही था खड़ा होने के बाद में उसका टॉप भी बहार नहीं आ पा रहा था. हम तीनो बहोत ही गरम हो चुके थे तो मेरे भी क्लॉथ को उसने पूरी तरह से खोल दिया और मेरे लंड को देख कर उसकी वाइफ बुरी तरह से चीख दी की क्या साइज़ हे दोस्त में झूट नहीं कह रहा हु मेरी साइज़ ७+इंच हे. और उसकी वोफे ने मेरे लंड को मुह में लेकर चुसना सुरु किया जो काफी मज़ा लेकर के चूस रही थी और बड़ी ही प्यासी लग रही थी.आप ये कहानी रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। सभी तरह के ओरल के बाद मेने उसकी विफ्फे को करीब हाफ अन हौर तक लगातार चोदा और दो बार उसकी चुदाई की इस तरह से कब टाइम निकल गया पता ही नहीं चला. और जब मेरे जाने का टाइम हुआ तो दोनों बहुत ही खुस थे और बोल रहे थे की हमारी तलाश तुम पर आके ख़तम हो गई. और वो दोनों उअस भी थे उसकी वाइफ ने मुझे अपनी सिटी में आने के लिए बोला और कहा की हम नेक्स्ट मंथ में फिर से अहमदाबाद आ रहे हे और अब मिकते रहेंगे. बट बिना किसी स्ट्रिंग अत्ताचेमेंट के ओनली फन और मस्ती के लिए जो आनेस्टी और ट्रस्ट के साथ होगा. थें दोस्तों ये मेरी रियल थ्रीसम सेक्स स्टोरी हे मेने जो भी लिखा हे साफ दिल से लिखा हे हो सकता हे आपको पसंद आये. या नहीं बट उम्मीद करता हु की पसंद आएगी और आप लोग मुझे मेल पर रिप्लाई भी करे.कैसी लगी ग्रुप सेक्स स्टोरी , शेयर करना , अगर कोई हमारे साथ ग्रुप चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/PriyaVashini

1 comments:

loading...

Indian sex story,indian xxx story,hindi porn story,hindi xxx kahani,hindi adult story,

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter