सेक्सी कुंवारी नौकरानी की जबरदस्त चुदाई

ये चुदाई कहानी और मेरा सेक्स एक्सपेरिसन मेरी नौकरानी नेहा के साथ की है. नेहा गजब की है यार उसका बदन 34-26-36. अब दोस्तों आप ही सोच लो कितनी हॉट होगी वो. मेरा शरीर आवरेज है और मेरे लॅंड की साइज़ 7 इंच की है.दोस्तों मैं अब आपका टाइम खराब नही करते हुए जल्द ही कहानी पर आता हू. मैं अभी पढ़ाई कर रहा हू कॉलेज मे और एक रेंट के मकान मे रहता हू. मुझे खाना बनाना बिल्कुल भी पसंद नही है इस वजह से नेहा ही घर का सारा काम कर के जाती है. मैं पढ़ाई मे ज़्यादा व्यस्त रहता था इश्स वजह से ज़्यादा नोटीस नही कर पाया, जब मेरा कॉलेज एक महीने के लिए बंद हो गया तब से मैने उसको नोटीस करना शुरू किया.
जब वो झाड़ू लगते टाइम झुकती थी तो उसका दुपट्टा नीचे सरक जाता था और उसके सलवार में उसके बड़े बड़े बूब्स लटक जाते थे.मैं उसकी क्लीवेज देख के पागल हो जता था और किसी तरह कोशिश करता था की उसके सामने आ जाऊँ काम के बहाने उसके बूब्स देखता र्हू.वो पसीने की बूँद उसके बूब्स के उपर टर रही होती थी मान करता था वही उन्हे नीचोड़ दू.वो भी 23 साल की थी.एक दिन की बात है. सुबह सुबह सॉफ सफाई करते टाइम मैं उसके बूब्स देखते जा रहा था.मेरी पेंट में मेरा लंड तन चुका था वो उसने देख लिया और तुरंत उठ के दूसरी तरफ चली गयी. आप ये कहानी रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मुझे लगा की कही उसे पता तो नही चल गया.अगले दिन से उपर और एक कपड़ा डाल के आने लगी.मैं उदास हो गया की अब मैं उसके बूब्स के दर्शन कैसे करूँगा.वो समाज गयी थी. कुछ दिन के बाद वो स्लीवलेशस सलवार पहन के आने लगी.काम करते समय उसके आर्मपिट से पसीने की खुशबू आती थी मैं तो पागल हो जाता था.फिर मैने उसे अपने पास बुलाया और कहा मेरे पास आके बैठो.वो मेरे साइड ने आके बैठ गयी.मैने अपना हाथ धीरे से उसके हाथ के उपर रखा.वो शर्मा गयी और उसने अपना हाथ हटा लिया.मैने कहा तुम्हे बुरा तो नही लगा ना.उसने कहा नही साहब. मैने फिर उसका हाथ पकड़ लिया और उसे अपने करीब खीच लिया और धीरे से उसके होठ के उपर अपने होठरख दिए और उसे किस करने लगा.उसने कहा नही साहब प्लीज़ छोडिए कोई देख लेगा ये सही नही है. मैने उसे समझाया की इस उमर में ये सब तो होता ही है इसमे कोई खराब बात नही है.मैने कहा मैं तुम्हे पूरी तरह खुश कर दूँगा आज और फिर हम किस करने लगे.फिर मैने उसका दुपट्टा खीच दिया और सलवार के उपर से उसके बड़े बड़े बूब्स दवाने लगा.आप ये कहानी रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। उसकी आँखें बंद हो गयी थी और वो उम्म्म की आवाज़ें निकालने लगी उम्म्म आह साहावब्ब. फिर मैने उसका सलवार उतार दिया.उसने अंदर ब्रा नही पहेनी थी और वो मेरे सामने उपर से पूरी नंगी हो गयी.वो अपने बूब्स अपने हाथ से छुपाने लगी पर मैने उसका हाथ हटाके उसके बूब्स को अपने मूह में ले लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा.वो तो पागल ही हो गयी थी.उसके बूब्स पे लगा उसका पसीना भी मैं चाट रहा था.करीब 10मीं तक बूब्स दबाने के बाद मैने उसका पाजामा भी उतार दिया और अब वो मेरे आअमने पूरी नंगी थी.फिर मैने अपनी शर्ट और जीन्स उतार दिया और अपनी अंडरवेर उतार दी और मेरा लंड जो की लोहे की तरह टाइट हो चुका था टॉप की तरह सलामी देना लगा.उसकी चूत के उपर बाल थे बीटीबहुत ज़्यादा नही थे मैने उसे बेड पे लिटा दिया और उसकी चूत के उपर अपनी उंगली फेरने लगा.उसकी चूत में से खुश्बू आ रही थी.फिर धीरे से मैने अपनी एक उंगली उसकी चूत मेी गुसा दी और धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा.नेहा मोन करने लगी अहह ऑश य्म्महह स्साहाबब ह्म.फिर मैने अपना मूह उसकी चूत खोलके उसके क्लिट के उपर रखा और उसे चाटने लगा और थोड़ी देर में वो झड़ गयी और मैं उसका सारा पानी मैं पि गया. ओह्ह्ह क्या नमकीन पानी था.फिर मैने कहा अब मेरा लंड चाटो.वो घुटनो के बाल बैठ गयी और मेरे लंड को मूह में लेकर उसे चूसनेलगी. मेरी आँखें बंद हो गयी थी ह ऑश उम्म हन चीस चूस नेहा क्या चुस्ती है तू आहह और ज़ोर से.कारोब 10मीं बाद मैं उसके मूह में 5-6 स्ट्रोक्स लगाके के झ गया और वो मेरा सारा कम पी गयी.फिर उसने कहा साहब अब देर मत करो ना. मैने कॉंडम निकाला और उसे बेड पे लिटाया और उसकी चूत पे लंड सेट करके हल्का सा धक्का मारा और सूपड़ा अंदर चला गया. वो वर्जिन थी तो उसकी चूत में से खून निकलने लगा. वो चिल्लाने लगी नाहहिी साहब निकालो बाहर दर्द हो रहा है. मैं रुक गया और उसे किस करने लगा.5-10 मीं बाद वो शांत हुई और मैने धक्के मरने स्टार्ट कर दिए और धीरे धीरे मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया और मैं उसे चोदने लगा. पूरे रूम में फकफच फॅक की आवाज़ें और हमारी मोनिंग की आवाज़ें आ र्ही थी यईसस्स नेहा आह आह क्या चीज है यार ओह्ह उफ़ ….. एसस्स आहह. ऊओ ह्म आआहा हहा आआओ होहो घ. आहा आब्ब जोर जोर से ….. और ज़ोर से साहब चोदिये मुझे अपना बना लीजिए.करीब आधे घंटे मैने उसे चोदता रहा वो दो बार झड़. चुकी थी मैने कहा मैं झड़ने वाला हू उसने कहा साहब बूब्स के उपर झड़ना.आप ये कहानी रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैने लंड उसकी चूत से बाहर निकाला और कॉंडम निकाला और मूठ मारने लगा और उसके बूब्स के उपर झड़ गया.उसके दोनो बूब्स मेरे मूठ से भीग चुके थे.मैने पूछा उससे कैसा लगा नेहा. उसने कहा साहब बहुत मज़ा आया और हम फिर किस करने लगे और एक दूसरे के उपर नंगे सो गये.उसके बाद पूरे महीने हम बहुत चुदाई करते थे कभी बेडरूम में कभी किचन में , कभी कही कभी कही . फिर मेरा कॉलेज स्टार्ट हो गया और हमारा सेक्स थोड़ा कम हो गया. थोड़े दिन बाद एग्ज़ॅम्स के बाद फिर छुट्टियां आई और फिर हमारा सेक्स चालू हो गया.फिर तो जब भी हुम्हे टाइम मिलता था अब चुदाई करते थे. घर में हमेशा नंगे ही घूमते थे.वो चलती थी तो उसकी मोटी गांड मटकके चलती थी मैं तो पागल ही हो जाता था.सफाई करते टाइम उसके बूब्स नीचे लटक के झूलते रहते थे.मैं उसे वही पकड़ के खीच के बेडरूम में ले के जाता था और चुदाई शुरू हो जाती थी दोस्तों अभी तक मैं नेहा को चोद रहा हु, अब मुझे चुदाई में बहुत मजा आ रहा है क्यों की वो अब अलग अलग से चुदवाने का शौक चढ़ा है. और मैं भी खूब मजे ले रहा हु. कैसी लगी नौकरानी की चुदाई  स्टोरी , शेयर करना , अगर कोई मेरी नौकरानी की कुंवारी चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/NehaKumari

1 comments:

Indian sex story

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter