Home » , , , » एक साथ 4 नीग्रो आदमी से वेस्या बीबी की गैंगबैंग

एक साथ 4 नीग्रो आदमी से वेस्या बीबी की गैंगबैंग

ये गैंगबैंग चुदाई मेरी बीबी की चुदाई की हैं.मेरी बीबी नीता की उम्र करीब ३६ साल है और हमारी शादी को १७ साल हो गया हो गया है मेरी बीबी आज भी खूबसूरत और सेक्सी दिखती है जब घर से निकलती है तो लोग उसके गदराई ज़िस्म को बहुत गन्दी नज़रों से घूरते हैं नीता को मैं स्कर्ट्स भी पहनने बोलता हूँ पर वो स्कर्ट पहनती तो हैं पर लॉन्ग स्कर्ट्स ज़्यदा पहनती हैं कहती है थोड़ा छोटा पहनती हूँ तो लोग घूरते हैं फिर भी मैं उसे कभी कभी पहना ही देता हूँ उसमे नीता और भी सेक्सी दिखती हैं ! हमारा सेक्स सम्बन्ध भी अभी भी ठीक ठाक हैं !!एकदिन अचानक ऑफिस में मुझे पता चला मेरा यूपी के एक छोटे से शहर में मेरा ट्रांसफर हो गया हैं उस शहर में हमारे कंपनी का एक छोटा सा वर्क शॉप हैं उसका मैनेजमेंट के लिए मेरा ही नाम रखा गया था ,बॉस बोले दो दिन के अंदर ही जाना होगा ?

घर पर जब सबको पता चला तो कुछ उदाशी सा छा गया पर जाना तो होगा ही घर वाले बोले दिल्ली से शिर्फ़ २०० किलोमीटर दूर ही तो हैं सैटरडे आ जाया करना और संडे रात वापस चले जाना पर नीता बोली मैं भी जाउंगी तो घर वाले भी नीता के हां में हां मिलाया ,मैंने बोला ठीक हैं पहले मैं वहा जाकर कोई घर माकन ढूंढ लेते हैं फिर आ जाना तो नीता बोली साथ चलती हूँ मैं मिलकर ही ढूंढ लेंगे ,फिर क्या था एहि पक्का हो गया दो दिन बाद हम उस शहर में पहुच गए ,स्टेशन के पास ही एक होटल लिए और फिर फ्रेस होकर नीता को बोला चलो पहले ऑफिस चलते हैं फिर ऑफिस के पास ही कोई घर ढूंढते हैं दोपहर का टाइम था गर्मी बहुत था एक ऑटो वाले को एड्रेस बताया तो उसने जाने को तैयार हो गया पर बोला साहेब आने जाने का किराया लूंगा क्योंकि उधर से सवारी नहीं मिलता हैं मैं बोला अरे भाई मुझे भी वापस ही आना है बस कुछ देर रुक कर ,ऑटोवाला बोला ठीक है चलो !!ऑटो में बैठे बैठे हम लोग शहर को देख रहें थे शहर में होटल के पास ही थोड़ा रौनक था और एक छोटा सा मार्किट था उसके बाद थोड़े दूर निकलते ही सड़के सुन शान सा लगने लगा फिर कुछ दूर बाद कुछ माकन दिखा करि १५ मिनट बाद ऑटो वाले एकदम सही अड्रेस पर ले आया यहाँ आस पास शिर्फ़ फैक्टरियां थी ये एक इंडस्ट्रीज एरिया था आस पास कोई घर या माकन नहीं था !आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। कंपनी के लोगो से मिला करीब ८-१० लेबर था और एक बुजुर्ग सा था जो यहाँ देखभाल करता था मुझे यहाँ प्रोडक्शन देखना था ,सब से मिलकर कल आता हूँ बोल कर ऑटो वाले से बोला भाई इधर तो रहने का कोई जगह नहीं है आस पास कोई घर किराये में दिला दो ऑटो वाला बोला चलो एक घर है मेरे नज़र में दिखाता हूँ वो ऑटो वाला थोड़ा गन्दा था और करीब ५५-६० साल का होगा पर मुझे वो अच्छा लगा जो हमारी मदत तो कर रहा था थोड़े देर में वो हमें एक मोहल्ले में ले आया मोहल्ले में सड़क आदि कच्ची थी और वहा छोटे छोटे कुछ घर तो था पर सब घर थोड़े एक दूसरे से दूर दूर था फिर उसने एक घर के सामने ऑटो रोक कर बोला रुको मैं पूछ कर आता हूँ वो उस घर के अंदर गया और एक ४५ -५० साल की औरत के साथ बाहर आया तो हम ऑटो से नीचे उतर गए वो औरत पहले नीता को ऊपर से नीचे तक देखा उसके नज़र में एक अजीब सा चमक था ,फिर वो औरत बोली मेरा नाम रूबी हैं और सामने दिखाते हुए बोली वो मकान मेरी छोटी बाहें का है वो अब यहाँ नहीं रहती है अगर आपको पसंद हो तो किराये ले सकते हो ? फिर ऑटोवाला चाबी लेकर हमें घर दिखाया घर छोटा था पर इस शहर के हिसाब से ठीक था नीता बोली अच्छा है हम दो ही तो हैं और कमरे भी ठीक हैं नीता को किचेन जायदा पसंद है आस पास का एरिया भी हरियाली था सौदा तये हो गया हमने उस औरत से किराया भी तये कर लिए और एडवांस देकर हम बोले अगले हफ्ते से रहने आऊंगा थोड़ा बहुत सामन भी तो लाना है हलाकि पलंग और चेयर टेबल सब था ही फिर भी किचेन का और बिस्टेर बगैरह ???

करीब ८ दिन बाद हम कुछ जरुरत के सामान के साथ दिल्ली से उस शहर में शिफ्ट हो गए मैं ऑफिस भी ज्वाइन कर लिया था ,एक दिन ऑफिस से लौट रहा था तो घर आने से पहले गली में कुछ गंदे टाइप के ३-४ लोग आपस में बाते कर रहा था तो मैंने सूना वो लोग किसी रंडी की बात कर रहे थे और बोल रहा था किसको कहा जाना हैं ,मैं घर आया तो नीता पानी चाय लेकर आई और पास बैठते हुए पुच्ची ऑफिस में क्या क्या हुआ फिर इधर उधर की बात करते रहे फिर मैंने बोला
मैं — नीता इस मोहल्ले में कुछ तो गरबर हैं शायद इधर कोई वेस्या बगैरह रहती है कुछ लोग आपस में गन्दी गन्दी बाते कर रहे थे
नीता– कुछ गरबर नहीं यहाँ सब गलत हैं ये मोहल्ला ही वेस्याओं के लिए जाना जाता हैं और वो रूबी जो है वो खुद ही एक वेस्या हैं मैं सब सुन चुकी हूँ
मैं — तूम्हे कौन बताया ?
नीता — मैं दोपहर को कुछ रासन का सामान लेने नुक्कड़ के दूकान में जा रही थी तो दो आदमी रास्ते में मुझसे पूछा नई आई हो क्या इस मोहल्ले में ? बुजुर्ग सा था दोनों तो मैंने बोला जी अभी कुछ दिन हुआ आई हूँ ,फिर एक ने बोला क्या रेट है तूम्हारा ,मैं बोली मैं समझी नहीं आप क्या पूछ रहे हो तो दुसरा बोला साली नई है ना इस लिए नखड़े कर रही है मैं गुस्से से बोली आपलोग को बात करना नहीं आता क्या ? फिर एक ने बोला साली ज़्यदा हवा में मत उड़ तुम यहाँ क्या करने आई होहमें पता है ! तो कभी कभी हमें भी खुश करदेना आखिर हम भी इसी मोहल्ले में रहते हैं और मोहल्ले वाले को डिस्काउंट भी देना चाहिए ,मैं गुस्से से कुछ बोलने ही वाली थी तभी दोना किसी को देख भाग गया मैं किसी तरह दुकान पर गई तो शायद दूकानदार उनलोगों को मेरे साथ बात करते देखा था दूकान वाला बोला बेटी आप नई आई हों यहाँ आपके पति आपके साथ है तो इस मोहल्ले में मकान क्यों लिया ? आप लोग तो अच्छे घर से हो फिर यहाँ क्यों लिया घर ?
नीता– मैं बोली अंकल क्या है इस मोहल्ले में ?आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। दुकानदार बोला बेटी ये शरीफो का जगह नहीं है यहाँ की बहुत सारी औरतें सब वेस्या है इसलिए लोग तुम्हे भी गलत ही समझते हैं ,, बेटी आपको यहाँ मकान कौन दिलाया है तो मैंने उन्हें बताया एक ऑटो वाला लेकर आया था और रूबी जी से मिलाया था तो रूबी जी ही वो घर दिलाई थी फिर अंकल हंसने लगे और बोले अरे बेटी वो रूबी भी गलत औरत हैं उसने जान बुझ कर कुछ सोच कर ही तुमलोग को घर दिया होगा ये सब सुन मैं वहाँ से सीधे घर आ गई

मैं — नीता की बात सुन कर पता नहीं क्यों मुझे गुस्सा नहीं आ रहा था फिर मैंने नीता से पूछा तुम ही बोलो क्या करना चाहिए कहो तो कही और घर ढूंढ लेते हैं रूबी से बोलता हूँ मरे पैसे और डिपोसिट वापस करने को !!

नीता — वो एकदम से तो पैसे देने से रही ,और फिर जल्दी में घर ढूंढना भी मुश्किल हैं ,अभी एहि रहती हूँ ? आप टेंशन मत लो मैं देख लुंगी !
नीता के बात से मुझे कुछ अच्छा लगा फिर मैं उसे बोला
मैं– यहाँ रहोगी तो ये लोग फिर तुम्हे गन्दी गन्दी बाते कहेगा और तुम्हे भी वेस्या और रंडी समझेगा
नीता — किसी के कहने से क्या फर्क पड़ता है और जिसे जो समझना है समझे
मैं — फिर रूबी तो तुमसे भी वेस्या गिरी करवाएगी फिर उसे क्या कहोगी ?
नीता — रूबी आपके आने से पहले मेरे पास आई थी और मुझे बहुत कुछ बोली
मैं — क्या बोली रूबी ?
नीता — बोली देखो तुम अब सब जान चुकी हो मुझे मालूम है वो दूकान वाला जब तुम्हे बोल रहा था तो मेरा एक आदमी उधर ही खड़ा था उसने मुझे सब बता दिया है ,देखो नीता हम लोग यहाँ जो भी करते हैं कुछ की जरुरत है और कुछ अपनी मस्ती के लिए करती हैं और आजकल तो ये सब एक फ़ैसन हो गया है इसमें कोई गलत बात नहीं है जिसे मजा लेना है ले जिसे नहीं लेना मत ले ! किसी के साथ जोरदाबस्ती नहीं करना चाहिए ,तुम नहीं चाहती हो तो इस मोहल्ले में कोई तुम्हे हाथ भी नहीं लगा सकता हैं ये मेरा वादा हैं और अगर तुम्हे भी मजे लेना हो तो बता देना तुम्हे खूब मजे दिलाऊंगा और मजे के साथ कुछ कमाई भी होती रहेगी बोलो क्या करना है ??? मैं उसे कुछ नहीं बोली और वो चली गई ,फिर आप आ गए !!

मैं — मैं कुछ देर चुप रहने के बाद बोला नीता देखो मैंने तूम्हे हमेशा खुश देखना चाहता हूँ और मैंने तुम्हे पूरी छूट भी दे रखा हैं और तुम मुझे भी जानती ही हो की मैंने जो भी अभी तक किया है सब तुम्हे बता देता हूँ ! इसलिए मुझसे हमेशा खुल कर बात करना हमारा प्यार आज भी उतना ही है जो पहले था ! मैंने कई बार दूसरी औरत के साथ मजे किये है पर तुमसे कुछ छुपाया नहीं है तो तुम भी मुझसे सब बातें शेयर करना इससे हमदोनो का प्यार और अटूट रहेगा !!
नीता — जानती हूँ और आप पर पूरा भरोशा करती हूँ आप बिलकुल बेफिक्र रहे मैं आपसे कुछ भी नहीं छुपाऊँगी मुझ पर यकीन करना ??

अगले दिन मैं अपने समय से ऑफिस चला गया और पुरे दिन ये सोचता रहा क्या नीता किसी और से सेक्स का मजा लेगी ?क्या रूबी उसे भी अपने साथ मिला लेगी पर जब नीता कल बोल रही थी की उसे कोई दो आदमी वेस्या समझ कर उसका रेट पूछा तो पता नहीं क्यों मुझे इस बात से बुरा नहीं लगा एक अजीब सा गुड़गुड़ी होने लगा था ! मेरी बीबी को लोग रंडी समझा पता नहीं मुझे ये सब अच्छा लगा !आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। ऑफिस से मैं २ बजे ही निकल गया काम में मन नहीं लग रहा था मैं घर आ गया तो देखा घर में ताला लगा हैं मेरा दिल धड़कने लगा और सोचने लगा नीता कहा गई होगी कुछ सोच मैं रूबी के घर के तरफ चल दिया ये सोच की शायद नीता उसके घर हो ,मैंने दरवाज़ा के पास पहुच कर बेल बजाया कुछ देर बाद दरवाज़ा खुला तो देखा रूबी थी मुझे देख वो थोड़ा सकपका गई और बोली आप आज जल्दी आ गए ? मैंने बोला हां थोड़ा सर दर्द था इसलिए आ गया ,मैंने उससे पूछा नीता यहाँ हैं क्या ? तो रूबी घबराते हुए बोली ह ,,हूं ,. हैं ,मैं उसे भेजती हूँ आप रुको मैं वही खड़ा रहा रूबी अंदर चली गई करीब ३-४ मिनट बाद नीता घबराते हुए आई और बोली आ..प ..प आप इत..इतना जल्दी आ गए ?नीता स्कर्ट्स और टॉप पहन रखी थी उसके बाल भी बिखरे पड़े थे मुझे देख नीता बहुत दर गई थी !! मैं बोला क्यों नहीं आना चाहिए था ? नीता न. नहीं मेरा मतलब था आप मुझे फ़ोन भी नहीं किये वरना मैं खाना बना कर रखती ! मैं बोला अगर तुम बिजी हो तो मुझे चाबी दे दो मैं घर जाता हूँ ,नीता बोली कैसी बात कर रहे हो चलो चलती हूँ !! हम घर आ गए मैं उससे कुछ नहीं बोला वो बोली आप बैठो मैं चाय बना लाती हूँ वो किचेन में गई मैं सोचने लगा जरूर कुछ और बात है वरना नीता इतनी घबरा क्यों रही है रूबी के घर कुछ तो हुआ है जो नीता बताने में डर रही है शायद रूबी के घर पर कोई और था जिस वजह नीता कुछ घबरा रही है ! नीता चाय लेकर आई और मेरे सामने बैठते हुए बोली आपकी तबियत तो ठीक हैं ना ?

मैं — हां ठीक हैं तुम बोलो रूबी के घर क्या करने गई थी ?
नीता — बस अभी १० मिनट पहले ही गई थी और आप आ गये
मैं — अरे ठीक हैं कोई बात नहीं गई थी तो क्या हुआ मैं कहा कुछ बोल रहा हूँ जो तुम इतना घबरा रही हो ये बोल मैं नीता के तरफ देखने लगा नीता नज़रे निचे झुकाये बैठी थी मेरे बोलते ही वो चौक गई
नीता — न.. नाह नहीं मैं घबरा नहीं रही हूँ बस यूँ ही
मैं — सच बोलोगी तो मुझे ख़ुशी होगी पर अगर नहीं बताना चाहती हो तो मैं तुमसे दुबारा नहीं पूछुंगा ,पर ये सच है नीता वहाँ तूम्हारे और रूबी के अलावे और भी कोई था जो तुम बताना नहीं चाहती हो कोई बात नहीं ? नीता काफी देर चुप रही फिर डर डर कर बोली
नीता — मुझसे गलती हो गई है आप माफ़ करदेना ?
मैं — देखो मैंने पहले भी बताया हैं हम एक दूसरे से कुछ भी नहीं छुपायेंगे और जो भी हुआ है मुझे कोई ऐतराज़ नहीं है मैंने तुम्हे पूरी छूट दे रखा हैं मैं तो तुम्हे खुद ही बोला हूँ लाइफ का पूरा मजे लेना चाहिए ,अब तो बताओ मुझे बुरा माहि लगेगा मेरे इतने कहने के बाद उसके अंदर एक साहस आ गया

नीता — आपके ऑफिस जाने के बाद मैं छत पर कपडे सुखाने डालने गई तो देखी दो आदमी रूबी के घर पर बाइक से आया और दोनों अंदर चला गया मैं समझ गई ये लोग रूबी का आशिक होगा मई नीचे आकर नहाने बाथरूम में गई और बाथरूम में शिर्फ़ पेट्टी कोट में थी इतने में बेल बजा तो मैं समझी रूबी ही आई होगी क्योंकि रूबी बोली थी तुम्हे आज किसी से मिलाउंगी मैं पेटीकोट ऊपर से बाँधी और दरवाज़ा खोली देखी दरवाज़े पे एक आदमी करीब ५५-६० साल का होगा वो मुझे उस हॉल में देख कर कहने लगा वाकई तुम बहुत हसीन और लाजवाब हो ,मैं बोली कौन है आप और क्या चाहिए ? उसने बोला नाराज़ मत हो मेरी जान तुम्हे देखने ही तो आया हूँ क्या मस्त जवानी है तूम्हारी ,मैं बोली आप बत्तमीज़ी कर रहे हो जाओ यहाँ से मैं दरवाज़ा बंद करने लगी तो उसने धक्का देते हुए बोला अरे क्या कर रही हो मुझे रूबी ने भेजा है आपके पास क्यों नाराज़ होती हो ,मैं बोली ठीक है बताओं क्या काम हैं ? उसने बोला रूबी बुला रही है आपको चलो मेरे साथ मैं बोली ठीक है आप जाओ मैं आती हूँ तो वो बोला अब तो साथ लेकर ही जाऊंगा ,मैं बोली मैं कपडे चेंज करके आती हूँ फिर उसने बोला रहने दो ना इसी तरह हसीन दिख रही हो क्यों चेंज कर रही हो ,मैं बोली प्लीज आप जाओ मैं आती हूँ वो माना नहीं बोला नहीं साथ ही चलो मैं बोली ठीक है आप रुको इधर ही ,मैं जैसे ही अंदर आने लगी वो भी अंदर आ गया और मुझे पीछे से बाँहों में पकड़ कर बोला तुम ने आज मेरा होंश उड़द दिया है कहा थी इतने दिनों से मैं तो तुम्हे देखते ही तुम्हारा दीवाना हो गया हूँ मैं उसके बाँहों से छूटने की बहुत कोशिश की पर वो कस के पकड़ रखा था मैं बोली प्लीज़ छोड़ दो मुझे मैं किसी की बीबी हूँ मैं उन जैसी औरत नहीं हूँ , तो वो बोला किन जैसी हो तुम ,मैं बोली मैं वेस्या नहीं हूँ , आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तो उसने कहा तो बनजाओ जाओ ना वेस्या तुम्हे पाने के लिए लोग पागल हो जायेगा और अच्छी कीमत भी देगा नहीं नहीं मुझे नहीं बनना , फिर वो मुझे पीछे से चूमने लगा मैं कुछ कर नहीं पा रही थी फिर वो बोला बताओं तो सही तुम्हार कीमत क्या होनी चाहिए ,मैं बोली मुझे नहीं पता ,तो उसने बोला ठीक है मैं आज तुम्हारी कीमत लगाता हूँ फिर वो मेरे सीने में हाथ लगाने लगा मैं पूरी तरह उसके गिरफ्त में थी अब मैं भी बहकने लगी थी वो बोला पेटीकोट उतारों फिर तुम्हारी कीमत लगाता हूँ मैं बोली नहीं प्लीज़ ऐसा मत करों मुझे छोड़ दो ,उसने बोला देखो जायदा नखड़े मत करों प्यार से बोल रहा हूँ जो वही करों वरना तुम सोच भी नहीं सकती हो तुम्हारे साथ क्या क्या होगा हमलोग बहुत गलत आदमी है तुमको कहा से कहा पंहुचा दूंगा तुम सोच भी नहीं सकती हो ,इसलिए प्यार से जो कह रहा हूँ वही करो तो तुम्हे भी मजा आएगा और हमें भी !!
मैं उसकी बात सुन डर गई और बोली प्लीज़ मुझे बर्बाद मत करों हाथ जोड़ती हूँ मुझे छोड़ दो वो नहीं माना और मुझे बोला देख कुतिया बहुत होगया अब सीधी तरीके से बोल रहा हूँ दुबारा नहीं बोलूंगा
अपनी पेटीकोट उतार और पूरी नंगी हो जा पहले मैं तुझे पूरा नंगा देखना चाहता हूँ फिर तेरी जिस्म के साथ खेलूंगा आज तुझे पता चल जायेगा मर्द किसे कहते है तुझे पूरा सुख दूंगा तू भी मस्त हो जाएगी और तू एकदम रंडी की तरह मेरा साथ दे फिर दोनों को ही मजा आएगा ,तू देखना रंडी बनकर तुझे कितना आनंद मिलेगा चल बहुत हो गया फटाफट नंगी हो जा !!

मैं सोचने लगी अब कोई फायदा नहीं है ये नहीं मानेगा और अगर इसकी बात नहीं सुनी तो ये बहुत कुछ कर सकता है इसलिए इसकी बात मान लू और इसके अलावा मेरे पास कोई और रास्ता भी नहीं था !! मैं बोली ठीक है आप जैसा बोलोगे मैं करुँगी
उसने कहा सबसे पहले अपना पेटीकोट उतार और दोनों हाथ ऊपर उठा कर मेरे सामने खड़ी हो जा

मैं क्या करती धीरे धीरे पेटीकोट का नाड़ा खोलने लगी नाड़ा खोलने के बाद मैं पकड़ रखी थी उसने बोला अब तू दोनों हाथ से पेटीकोट को पकड़ कर ऊपर सर के ऊपर ले जा और फिर जब तक मैं न बोलू वैसे ही पकड़ रख और मेरे बोलते ही तू पेटीकोट छोड़ देना ,मैं क्या करती उसकी बात मानने के अलावा मैंने पेटीकोट को सर तक उठा दी तो नीचे से पेटीकोट एकदम पूरा जांग से भी ऊपर उठ चूका था वो मेरे जांगो को शहलाने लगा मैं तो उसे देख भी नहीं पा रही थी फिर उसने कहा चलो छोड़ दो मैं जैसे ही छोड़ी पेटीकोट नीचे फर्श में जा गिरा और मैं उसके सामने पूरी नंगी दोनों हाथ उठाये नज़रें झुकाये खड़ी थी आज एक गैर सामने आपकी बीबी पूरी नंगी खड़ी थी फिर उसने अपने मोबाइल निकाल कर मेरा नंगे बदन का विडियो बनाने लगा और बोला जा थोड़ा चल कर दिखा वो जो कहता गया मैं करती रही फिर उसने मेरी ज़िस्म को बिस्तर में लेटा कर नोचता रहा और मुझे सब तरीके से उसने लुटा गंदे से गन्दा काम करवाया जो मैं आपको बता नहीं सकती मैं अब लूट चुकी थी इसलिए उसने कहा अब तुम एक रांड हो और अब तुम रोज़ धंदा करोगी रूबी के साथ मिलकर रहना वो तुम्हारे लिए रोज़ ग्राहक बुलायेगा और अगर नखरे की ना तो ये जो तुम्हारी चुदाई का विडियो बनाया है वो नेट पर डाल दूंगा इसलिए बोल रहा हूँ रूबी जो बोले वही करना आजसे तुम एक वेस्या हो और अभी रूबी के घर चलो वहाँ मेरा एक दोस्त भी आया हुआ है उसे भी खुश करों,आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं बोली आज नहीं फिर कभी तो वो भड़क गया और बोला साली कुतिया रंडिया रोज दो लोगो से चुदवाती है और तेरे को बोला ना आज से तू एक रंडी है चल जल्दी मेरे दोस्त से भी चुदवा मैं चुप और उसे भी अपनी जिस्म का सुख उठाने दे !! फिर वो बोला चल कपडे पहन मैं उसके सामने ही ब्रा पैंटी पहन रही थी तो उसने बोला क्या कर रही है वहाँ तुझे नंगा ही तो होना है फिर ब्रा पैंटी क्यों डाल रही है ,फिर मैं स्कर्ट्स और टॉप डाली और उसके साथ रेनू के घर गई रेनू मुझे देखते ही बोली आओ तुम्हारी रंडी बाजार में आज स्वागत करती हूँ फिर वो अंदर ले गई जहां एक काला सा मोटा सा बहुत गन्दा आदमी बैठा था रेनू बोली जा सेठ के गोदी में बैठ जा और उसने मुझे उसके तरफ धकेल दिया वो काला आदमी मुझे खीच कर अपनी गोद में बैठा लिया और मेरी चुच्ची को मसलते हुए बोला रेनू मस्त रंडी है साली ये अच्छा ख़ासा धंदा करेगी उसने रेनू और पहले वाले आदमी के सामने ही मेरी टॉप नीक दिया और मुझे चूमने लगा तो पहले वाला बोला साली दिल खोल कर चुदवाती है शायद ये अपने पति से पूरा संतुष्ठ नहीं है रेनू बोली अब आप लोग होना इसे संतुष्ठ कर देना ,फिर पहला वाला बोला भाई आप जी भर कर मजे लो मैं जा रहा हूँ मेरी बीबी का बहुत फ़ोन आ रहा है ,मोटा वाला बोला हां जाओ मैं बाद में आता हूँ और वो चला गया फ़ी वो मोटा बोला चल स्कर्ट्स उतार और मुझे नाच कर दिखा ,मैं बोली मुझे नाचना नहीं आता तो बोला साली जितना जानती है उतना कर मुझे रंडियों को नंगा नचाने में बहुत मजा आता है फिर रेनू बोली नीता अरे सेठ को अच्छे से खुश कर ये तुझे इनाम देंगे और हां सेठ तुझे पूरा कीमत देंगे अपना और अपने दोस्त का तू अब खुल कर धंदा कर इसीमें तेरी भलाई है ,सेठ मेरा स्कर्ट्स उठा कर ऊँगली डालने लगा इतने में आप आ गये और रेनू आपको दरवाजे पर रोक कर भाग कर आई और सेठ को बोला इसे बाद में चोद लेना इसका पति आ गया है ,मेंबहुत डर गई रेनू बोली जल्दी से टॉप पहन और चला जा मैं टॉप डाली और आ गई !!!
जो भी हुआ मेरे साथ सब आपको बता दी मैं जानती हूँ अब आपके नज़रों मैं ख़राब हो गई हूँ फिर भी होसके तो आप मुझे माफ़ कर देना ,आपकी बीबी अब गन्दी हो चुकी है आप जो भी सजा देना चाहो मैं उसे भुगतने के लिए तयार हूँ और वो रोने लगी !!!!

मैं काफी देर कुछ भी बोल ना सका काफी देर सोचता रहा मुझे क्या करना चाहिए कई बार तो मैंने भी सोचा था नीता को किसी से चुदवा दूँ और जब आज वही हुआ तो क्यों गुस्सा करूँ ,पर कही मेरे अंदर एक अजीब सा हलचल था की उनदोनो ने मेरी बीबी को कैसे कैसे नंगा कर मजे लिया होगा शायद नीता को भी थोड़ा बहुत मजा आया होगा वरना वो चीख चीख कर शोर मचा सकती थी या फिर और भी कुछ कर सकती थी ,ठीक है अगर वो मजे लेना चाहती है तो मैं उसे कुछ नहीं कहूंगा और बोल दूंगा कुछ दिन वेस्या ही बनकर मजे लो !!!!!!

मैं — नीता मैंने बोला था ना मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और करता रहूँगा और ये सब लाइफ में चलता रहता है और यहाँ हमने कितना दिन रुकना है मुझे यहाँ शिर्फ़ एक साल ही रहना है फिर हम दिल्ली चले जायेंगे और वहाँ किसे पता चलेगा जो हुआ और जो होगा वो शिर्फ़ हमदोनो को ही पता है फिर दिल्ली जाकर हम सब भूल जायेंगे और पहले की जिंदगी में जियेंगे !!
मेरी बात सुन कर नीता को कुछ राहत मिला

नीता — फिर क्या करूँ मैं और रूबी तो मुझे इसी तरह मुझे इस्तेमाल करेगी ?

मैं — ठीक हैं कुछ दिन करके देखो और मैं उससे बात करता हूँ यूज़ प्यार से समझा दूंगा

नीता — तो मुझे वेस्या बनना पड़ेगा और मोहल्ले में मुझे सब वेस्या ही समझेगा ?
मैं — कोई बात नहीं कुछ दिन वेस्या बनकर ही रहो और मजे लो !!

नीता– तो क्या करूँ वो मोटा बुड्डा अभी भी रूबी के घर पर ही है जाऊँ क्या ?

मैं — हां चली जा और रूबी को बोल मैंने उसे बुलाया है ,और तू नहीं गई तो वो बुड्डा कल तुझे रुलाएगा
इससे अच्छा है वो जो कहता है वही कर !!
नीता — साला बुड्डा कहता है नंगी होकर नाचो ,मन तो कर रहा था साले का दाँत तोड़ दूँ और कितना गन्दी गन्दी गाली देता है ये लोग क्या वेस्या को ये सब सुनना पड़ता हैं ,आप भी तो वेस्या के साथ मजे किया हैं क्या आप भी इसी तरह करते हों ?
मैं — अरे नहीं पर कुछ लोग को ये सब कहने में बहुत मजा आता हैं और अगर लोगो को ये पता चल जाये की ये किसी और की बीबी है तो उसे गन्दी गन्दी गाली देकर चोदने में बहुत मजा आता है इसलये वे लोग तुमसे ये सब कहता हैं
नीता — मतलब मुझे सब करना ही होगा ?
मैं– हां इसमें तुम्हे भी मजा आएगा और चुदाई खुल कर करने देना उस टाइम तुम एक रंडी ही समझना अपने आपको
नीता — और सब गन्दी जगह चाटने बोलता हैं मुझे घिन आती हैं ?
मैं — अरे कुछ नहीं होगा और करना पड़ता ही है अब जाओ और उस मोटे को ज्यादा इन्तेजार मत कराओ ??

नीता चली गई १५ मिनट बाद रूबी आई और मुझे बोली क्यों बुलाया है मेरे राजा
मैं — आखिर आपने मेरी बीबी को रंडी बना ही दिया और इसी वजह आपने हमे घर किराये में दिया था है ना ?
रूबी — सच है पर इसमें बुराई ही क्या है और आप भी मजे लो ?
मैं–किसके साथ ?
रूबी — अरे मैं हूँ ना आपके लिए एकदम फ्री सेवा करुँगी और आपको पूरा सुख दूंगी ?
मैं रूबी को अपनी बाँहों में ले लिया और उसे चूमने लगा तो वो बोली बहुत प्यासे दिख रहें हो कर लो जो करना है
मैं — बुड्डा क्या क्या कर रहा होगा मेरी बीबी के साथ ?
रूबी — बुड्ढे ने नीता के जाते ही पूरा नंगा कर दिया और उससे बोला मेरा लण्ड चाट नीता उसका लण्ड देख डर कर बोली इतना मोटा लण्ड मेरे मुहँ में नहीं जायेगा पर बुड्डा कहा मानने वाला था और घुसा दिया उसके मुहँ में तुम्हारी बीबी सही में बहुत अच्छी रंडी बनेगी इसे आप धंदे करने दो मना मत करना

फिर मैं और रूबी सेक्स का मजा लेने लगे रूबी भी पूरी मजे दी मुझे सही में रूबी बहुत सेक्सी थी रूबी फिर जाने लगी तो मैंने बोला नीता को अब भेज दो

रूबी के जाने के १५ मिनट बाद नीता आई और बोली मुझे पहले नहाने दो फिर आपसे बात करती हूँ

नीता फ्रेश होकर आई और बिस्तर में लेटते हुए बोली मेरा पूरा बदन तोड़ कर रख दिया वो कुत्ता बुड्डा
मैंने पूछा क्या हुआ बोलो तो सही ?
नीता — साला बहुत गन्दा है क्या क्या किया कोई सोच नहीं सकता जैसे मैं कोई खेलने की चीज़ हूँ उसने पहले नंगा करके नचवाया फिर अपना बदबूदार लण्ड से मेरा मुहँ फार डाला और बोला कितना बदबू आ रहा था उसके लण्ड से फिर मुझे उल्टा लिटा कर बोला पहले तेरी गांड मारूँगा फिर काफी देर गांड मारने लगा मैं चिल्लाने लगी प्लीज़ चोद दो बहुत दर्द हो रहा है पर साला कहा सुनने वाला था फिर उसने लण्ड मेरे मुह में डाल कर बोला चल लण्ड को चाट कर साफ़ कर मैं चाटने लगी तो लण्ड से पानी निकलने लगा और मेरा मुहँ में झाग बनगया तो बोला पूरा पानी पी जा ,फिर उसने शीधा लेटा कर मेरी जमकर चुदाई किया मेरा पूरा बदन दर्द कर रहा है
और कल वो मुझे अपने घर लेजायेगा बोला कल तेरे साथ कुछ अलग मजे लूंगा
मैं — हां चली जाना और मजे लो सेक्स का अब किस बात का टेंशन है
नीता — हां अब तो रंडी बन ही गई हूँ , और हां रूबी कह रही थी वो जो ऑटो बाला हमें यहाँ लाया था ना उसे घर दिलाने के लिए कमीशन देना होगा तो रूबी बोली उसके बदले मैं उसे भी खुश करदूँ ये ऑटो वाला ने ही रूबी को बोला हैं तो मैं बोली ठीक है पर आज नहीं कल सुबह भेज देना तो कल आपके ऑफिस जाने के बाद वो आएगा

मैं — हां करदे अब क्या फर्क पड़ता हैं नीता तुम जो ठीक समझो करों मेरा मना नहीं है पर मुझे रोज जो भी करों या फिर तुम्हारे साथ हो मुझे सब बताना सही बोलू ये सब सुनकर अब मुझे भी मजा आने लगा है
नीता — मजे तो अभी आपने भी रूबी के साथ लिया है ना कैसी लगी रूबी ?
मैं — साली मस्त हैं वो भी खुल कर चुदवाती हैं तभी तो लोग उसके दीवाने हैं तुम भी लोगो को खुलकर चोदने दो ,और हां मुझे एकबार तुम्हारी चुदाई देखना हैं कोई किस तरह मेरे सामने मेरी बीबी को चोदता है वो देखना है एक काम करता हूँ कल ऑटो वाला को मेरे सामने चोदने बोलता हूँ बहुत मजा आएगा
नीता — नहीं नहीं मुझे आपके सामने शर्म आएगी
मैं –अरे कुछ नहीं होगा उस बक्त तुम एक रंडी बनकर चुदवाना बहुत मजा आएगा और ऑटोवाले को भी बोल दूंगा वो मेरे सामने खुलकर तुम्हे इस्तेमाल करे उसे जो करना हो करे मैं बस सामने बैठ कर मजे लूंगा
नीता — जैसी आपकी मर्जी.
अगर कोई मेरी वेस्या बीबी की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/NitaSharma


1 comments:

Indian sex story

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter