loading...
loading...

दोस्त की बड़ी बहन के साथ सेक्स

ये सेक्स कहानी मेरे दोस्त की बड़ी बहन की चुदाई की हैं . दोस्त की बहन को चोदा, नंगा करके बूब्स चूसा और बहन की चूत चाटी, घोड़ी बना के चोदा, दोस्त की बहन की गांड मारी , दोस्त की बहन की चूत को ठोका ।एक बार मैं ब्लू फिल्म की सी.डी देने के लिए उसके घर गया। मैंने बाहर से आवाज़ लगाई पर कोई बाहर नहीं आया। मैं दरवाज़े के पास गया तो दरवाज़ा खुला था। अन्दर जाने पर लगा कि घर पर कोई नहीं था। तभी मुझे बाथरूम से कोई आवाज़ सुनाई देने लगी। मैंने सोचा कि थापा नहा रहा है, इसलिए मैं उसके कमरे में जाकर बैठ गया। थोड़ी देर में मैं बोर होने लगा.. मैंने सोचा क्यूँ ना थोड़ी मस्ती की जाए !मैं थापा को डराने के लिए दरवाज़े के नीचे से झांकने लगा…मुझे नंगी टाँगें दिखाई देने लगी। मैंने आवाज़ लगाई- थापा, जल्दी बाहर निकल, मुझे तुझे कुछ देना है…इतना कह कर मैं कमरे में जाकर बैठ गया।
अन्दर से कोई आवाज़ नहीं आई। फिर अचानक दरवाज़ा खुला……मैं देख कर दंग रह गया कि वह उत्कर्ष नहीं बल्कि उसकी खूबसूरत एवं सेक्सी दीदी अंकिता थी…. उसका गोरा बदन गुलाबी तौलिये से ढका हुआ था… उस तौलिये से उसकी चूची की गोलाइयाँ साफ़ नज़र आ रही थी…. पहली बार ऐसा दृश्य देखकर मैं शरमा गया… मेरा जोश सातवें आसमान पर पहुँच गया…. मेरा लण्ड पैंट से बाहर आने के लिए बेताब हो रहा था…
मैंने अपने खड़े लंड को छुपाने की पूरी कोशिश की…हालांकि रिश्ते में वो मेरी दीदी जैसी थी पर उसके गोरा बदन ने सब कुछ भुला दिया ….दीदी ने बताया- उत्कर्ष घर पर नहीं है ! बताओ क्या काम है ?सामने के मेज़ पर रखी अपनी कॉपी में मैंने सी-डी रखी थी। मैं घबरा गया और दीदी से कहा- मुझे उसे यह कॉपी देनी थी, पर मैं बाद में आकर दे दूंगा….यह कह कर मैं कॉपी उठाने गया …..आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। पर गलती से सी-डी गिर गई … इससे पहले कि मैं कुछ करता, वो सी-डी उठाने के लिए नीचे झुकी ! झुकने के कारण उसके आधे से भी ज्यादा स्तन दिखाई देने लगे…. मेरा मन उसके तौलिये के खुलने का इंतज़ार कर रहा था… मेरा लंड लोहे की तरह कड़ा हो गया था …. मेरा लंड बहुत शरारती था और बार बार भड़क रहा था … यह देख कर दीदी भी मुस्कुराने लगी…. सी-डी के बारे में पूछने पर मैंने अपने आप को बचने के लिए कह दिया कि यह योगासन की सी-डी है…दीदी को शायद शक हो गया था और कपड़े बदलने के बहाने अन्दर चली गई।मेरी तो फट के चार हो गई मैं और चुपके से खिसकने वाली ही था कि इतने में अन्दर से आह्ह्ह्हह्ह आह्ह्ह्हह्ह आह्ह्ह्हह्ह की आवाज़ें आने लगी, दीदी रावत रावत कह कर मुझे बुलाने लगी। मैं डरते हुए अन्दर गया..

दीदी ने मुझसे हंसते हुए पूछा- यह कौन सा आसन हो रहा हैं ?गलती से मेरे मुँह से निकल गया- यह रामदेव बाबा चोदासन कर रहे हैं……….दीदी कहने लगी- तुम मुझे ये सब सिखाओगे? अभी बताती हूँ तुम्हारे घर में !
अब मेरे लण्ड का जोश ठंडा पड़ रहा था………….मैं अच्छी नियत से दीदी के पाँव पड़ने लगा………पर दीदी ने गलत समझा……..दीदी ने कहा- अगर तुम बचना कहते हो तो मुझे भी चोदासन सिखाओ….मैं चौंक गया, मेरा लंड वापस जोश में आने लगा……..अब वो फ़ायरिंग करने को बेताब था…… मेरा लंड गीला होता जा रहा था और दीदी की चूत की प्यास बढ़ती जा रही थी। अब उसे रोकना नामुमकिन सा लग रहा था………..दीदी ने कहा- क्या हुआ? क्या सोच रहे हो? चोदासन सिखा रहे हो या मैं सिखाऊँ?अब मुझे ग्रीन सिग्नल मिल चुका था पर मैंने ऐसे ही कह दिया- तुम्हारे भाई को पता चल गया तो?फिर दीदी ने बताया- वो नेपाल गया है….पापा मम्मी भी गए हैं ! तुम चिंता मत करो ! तुम बस मेरी चूत को चीर दो !आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने कहा- नहीं दीदी ! यह तो गलत है, तुम तो मेरी बहन जैसी हो !उसने कहा- क्या भाई क्या बहिन ? यह ज़िन्दगी का असली आनन्द …….. खुद भी लो और मुझे भी लेने दो… !इतना कह कर उसना मेरा हाथ पकड़ लिया, उसका कोमल हाथ गर्म था और आँखें लाल हो रही थी…..अब मैंने भी आगे कदम उठाया और अंकिता को अपनी बाहों में जकड़ लिया।मै धीरे धीरे दीदी के गालों को चूमने लगा………. दीदी अभी भी तौलिया लपेटे थी…. मन तो कर रहा था कि तौलिए को ही खींच दूँ,अगर कोई मेरी दोस्त की बहन की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/AnkitaSharma


1 comments:

loading...
loading...

Indian sex story,indian xxx story,hindi porn story,hindi xxx kahani,hindi adult story,

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter