जवान दो चुदक्कड बहन की प्यास बुझाई

पारिवारिक ग्रुप सेक्स कहानी, behan ki chudai हिंदी सेक्स कहानी, बहन की प्यास बुझाई hindi sex kahani, बहन को चोदा real sex story, बहन के साथ चुदाई की कहानी, बहन के साथ सेक्स की कहानी, behan ko choda xxx hindi story,

मेरी दो बहन है, सिम्मी काफी सुंदर है, बड़ी गांड उम्र २४ साल है और फिगर ३४-३०-३८ है. दूसरी संजना है उमर २२ हे और फिगर ३४-२८-३६ है और मेरी उम्र १९ साल है.मैं जब १५ साल का था तब से ही अपनी बहनों की पेंटि में मुठ मारा करता था, फिर दूसरों से उनकी गंदी बातें भी करने लगा.मुझे लगता था मेरी दीदी बहुत शरीफ है, पर एक दिन जब मैं घर जल्दी आ गया मुझे कुछ आवाजें सुनाई देने लगी, धीरे करो.. प्लीज़.. नहीं.. मैं खिड़की के ऊपर वेंटिलेटर से देखा मैंने जो देखा वह मैं बस सोचता था खुद करने का, मेरी दोनों दीदी दो लड़के से चुदाई कर रही थी.मैं हैरान रह गया पर मेरा लंड भी खड़ा हो गया था. वह दोनों काले से लड़के थे. मेरी गोरी गोरी बहनों को बेदर्दी से चोद रहे थे. उन लड़कों को मेने पहले कई बार देखा था घर के सामने. पर यह नहीं सोचा था कि वह लोग दीदी को चोदते होंगे..
बहन की प्यास बुझाई
जवान दो चुदक्कड बहन की प्यास बुझाई

सिम्मी बहुत खुशि खुशी चुदवा रही थी पर संजना दर्द में लग रही थी, दोनों पूरी नंगी, मैंने पूरी चुदाई देखी. फिर उन दोनों ने कंडोम निकालकर उसमें भरा हुआ माल दीदी को पिला दिया, फिर सिम्मी ने लाल कलर की पेंटि उठाई और पहन लिया और संजना बेड पर लेटी हस रही थी.. फिर मैं वहां से हट गया और जब वह लोग निकले मैं घर के अंदर गया..

मैंने दीदी को बोला : दीदी आप लोग जो कर रहे थे, मैंने सब देखा हे.

वह दोनों घबरा गयी और सिम्मी ने कहा : तू देख रहा था??

मैंने कहा : हां, सब देखा मैंने.. कौन थे वह दोनों??

सिम्मी ने कहा : भाई प्लीज किसी को मत बताना, वह दोनों हमारे बॉयफ्रेंड है.. प्लीज मम्मी पापा को मत बताना…

संजना ने कहा : यह क्यों बताएगा?? मुझे इसके बारे में सब पता है. देखी थी अपनी पैंटी इसके रूम में, और इसके फोन पर हमारी पेंटी की फोटो.. अब तू बोल ना साले??

मैंने कहा : सॉरी दीदी, वह मैं कंट्रोल नहीं कर पाता था इसलिए..

सिम्मी ने कहा : और हम भी.

मैंने कहा : दीदी मुझे भी कभी नहीं करने दोगी??

सिम्मी ने कहा : अपनी बहन चोदेगा?? पागल है तू..

मैंने कहा : जब दो अंजान लड़के से चुद सकती हो तो मुझसे क्यों नहीं?

वह दोनों एक दूसरे की तरफ देखने लगे.

सिम्मी ने कहा : ठीक है पर अभी नहीं, रात को. अभी बहुत थक गए हम दोनों.

मैंने कहा : ठीक है. दीदी आप लाल कलर की पैंटी पहनना.

सिम्मी ने कहा : हां ठीक है भेन्चोद

संजना ने कहा : यह बता तू क्यों चोदना चाहता था पहले से अपनी बहनों को? क्या अच्छा लगता तुम्हें हम में??

मैंने कहा : दीदी, वह आप लोग बहुत सेक्सी लगती हो. जब भी आप लोग टाइट लेगीन पहनती थी तो पेंटिं की लाइनिंग दीखती थी और गांड और बूब्स फुली हुई देख के चोदने का मन करता था..

सिम्मी ने कहा : आज अपनी बहनों को चुदता देखा, कैसा लगा?

मैंने कहा : लंड खड़ा हो गया था दीदी, बहुत मजा आया..

फिर रात हो गई..

दीदी के रूम में गया. दोनों दीदी मेरा इंतजार कर रही थी. सिम्मी ने लाल कलर की ब्रा और पेंटी पहना था, और संजना ने ब्लू पैंटी और वाइट ब्रा.. मैंने देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया. मेने सिम्मी को किस किया और संजना के बूब्स दबाने लगा. संजना ने मेरी पेंट उतार दि और मेरा १४ सेंटीमीटर लंड दोनों ने देखा और बोली ये कितना छोटा है?? और हिलाने लगी फिर बोली पर मोटा बहुत है..सिम्मी ने मेरे लंड को मुंह में लिया और जोर जोर से चूसने लगी.. तभी मैं खुद को रोक नहीं पा रहा था और मेरी मुत निकल गई, सिम्मी दीदी ने मेरा मूत थूका और एक थप्पड़ मारा.. साला बहन चोदने आया हे और तुरंत जड़ गया.. इतना जल्दी जड़ता था तो दवा ले लेता साला.. सारा मजा ख़त्म कर दिया.. अब मत आना बोलने चोदने दो दीदी.. तू हमारी पैंटी की ही लायक है, उसे सूंघ के मुठ मार तू..आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर दीदी ने कॉल करके अपने बॉयफ्रेंड को बुलाया.

सिम्मी ने कहा : तु यहां से जाओ अब, बुला रही हूं मैं किसी को..

मैंने कहा : दीदी प्लीज एक चांस तो दो.

सिम्मी ने कहा : नहीं टच भी मत करना..

मैंने कहा : दीदी प्लीज पहली बार ऐसे देखा इसलिए जल्दी निकल गया.

सिम्मी ने कहा : तो बाद में आना. अभी बहुत चूत में आग लगी है..

मैंने कहा : दीदी मैं आपको चुदते देखूंगा ऊपर से..

सिम्मी ने कहा : ठीक है तू देख ही सकता हे.

मैंने कहा : दीदी यह पैंटी दे दो ना बस, मैं सुन्घुंगा और इसमें मुठ मारूंगा..

संजना ने कहा : कितना हवसी है साला..

सिम्मी ने कहा : यह लो…

मैं फिर चला गया. फिर सीम्मी दीदी का बॉयफ्रेंड आया फिर दीदी के रूम में गया. तभी मैं ऊपर से देखने लगा, उसने अपना लंड तुरंत निकाला और सिम्मी दीदी के मुंह में दे दिया, दीदी उसे चूसने लगी और ९ इंच का पूरा लंड मुंह में ले रही थी..और वह आदमी संजना के बोबे दबाने लगा.. फिर सिम्मी दीदी बोली चूत में बहुत भूख लगी है, जल्दी डालो. फिर उस आदमी ने अपना लंड दीदी की चूत में डाल दिया.. दीदी जोर से आऊ अहह औउ औउ ओह्ह उऔ इह हां और जोर से चोदो कहने लगी और लंड गांड में लेने का मन कर रहा है ऐसा बोल रही थी.तो संजना ने डिल्डो निकाला और उस आदमी ने दीदी की गांड में लंड डाला और संजना अपने दीदी के चूत में डिल्डो डाला. आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। दीदी की आंखे से आंसू निकल रहे और जोर से चोदो मुझे औऔ अहह औउ उऔ ओह अहह आया स्स्य्य. मैं यह सब देख के दीदी की पैंटी में मुठ मार दिया.फिर उस आदमी ने संजना की चूत में लंड डाला.. संजना भी सिसकिया लेने लगी आह आयी उस अज्ञ ययय ईई इह अहह ये एस हहह सिम्मी ने बोला क्या रंडी कैसा लग रहा मेरा बॉयफ्रेंड का लंड.. संजना बोली साली छिनाल मजा आ रहा हे, दीदी रात भर उसी के साथ रही.कैसी लगी हम डॉनो भाई बहन की सेक्स स्टोरी , अच्छा लगी तो शेयर करना , अगर कोई मेरी दो बहन की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना lund ki pyasi chuddakad behan

1 comments:

Indian sex story,indian xxx story,hindi porn story,hindi xxx kahani,hindi adult story,

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter